Wednesday, May 10, 2017

main tera naam gunagunata hoon



tujhe dill yaad karata hai, main tera naam gunagunata hoon

तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।
तू विरह अग्नि भड़काता है, मैं विकारों को जलाता हूँ॥

तुझे सब ढूंढ़ते फिरते हैं, मंदिर तीरथ और वनों में।
तू मन मन्दिर में रहता है, मैं हर पल साथ पाता हूँ।
तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।

संसार विषय भोग ललचाते है, जगत में ही फंसाते है।
तू राह के काँटे हटाता है, मैं नाम के फूल बिछाता हूँ।
तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।

काम क्रोध लोभ भरमाते हैं, अज्ञान अंधकार डराते हैं।
तू ज्ञान प्रकाश फैलाता है, तब मैं राह देख पाता हूँ।
तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।

मैं तेरी राह का पथिक हूँ, नहीं जब छांव मिलती है।
तू बादल बन छा जाता है, तब मैं पग चल पाता हूँ।
तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।

मैं तेरी साख का एक फूल हूँ, एक दिन मुरझाना है।
तू चरणों में जगह देता है, तब मैं मुस्‍कुरा पाता हूँ।
तुझे दिल याद करता है, मैं तेरा नाम गुनगुनाता हूँ।

JAI SHREE BABOSA

Kingdom of Heaven is open to all except the arrogant’.

‘Truly great are those who bloom even in autumn of adversary’.

‘Pride destroys the merit of service’.

‘Bridging Humanity piece by peace’.

‘For nearness to God, Man must have nearness to Man’.

‘Know One, Believe One’.

‘To bow in front of others is strength, not weakness’.


‘To perceive God, one must attain the divine vision’.

No comments:

Post a Comment

Featured Post

New Bhajan - Mujhe Raas Aa Gaya

मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना, तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया ठिकाना ...